सभी बच्चों को स्कूल में दाखिला दिलाना हम सबका दायित्व-विधायक श्री विनय भगतजिला स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव का गरिमामय आयोजन

जषपुरनगर 01 जुलाई 2019/ जिला स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव का गरिमामय आयोजन आज यहां शासकीय बालक उच्चतर माध्यमिक शाला के हाल में स्थानीय विधायक श्री विनय भगत के मुख्य आतिथ्य में हुआ। इस अवसर पर नव प्रवेशी बच्चों का तिलक कर उन्हें फूलमाला पहनाकर स्वागत किया गया।

विधायक श्री विनय भगत, नगरपालिका  के अध्यक्ष श्री हीरूराम निकुंज, कलेक्टर श्री निलेशकुमार महादेव क्षीरसागर, सीआरपीएफ के डिप्टी कमांडेन्ट श्री रवि प्रकाश, जिला पंचायत सदस्य श्री अजय शर्मा, समाज सेवी अजय गुप्ता, संजीव भगत, श्री सिन्हा, श्री ताम्रकार सहित अन्य अतिथिगणों ने नवप्रवेशी बच्चों को निःशुल्क पाठ्यपुस्तकें और गणवेश प्रदान करते हुए उन्हें उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। 
            शाला प्रवेश उत्सव का शुभारंभ दीप प्रज्जवलन से हुआ। इस अवसर पर महारानी लक्ष्मी बाई हायर सेकेण्डरी स्कूल की छात्राओं द्वारा स्वागत गीत और समूह नृत्य की सराहनीय प्रस्तुति दी गई।

विधायक श्री विनय भगत ने मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया और कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिक्षा गुणवत्ता सुधार को लेकर प्रयासरत है। उनकी इच्छा है कि शत् प्रतिशत् बच्चे स्कूल जाए। पढ़े, और अपना भविष्य गढ़े।

श्री भगत ने कहा कि 6 से 14 वर्ष का एक भी बच्चा स्कूल जाने से छूटने न पाए, यह सुनिश्चित करना हम सब का सामाजिक दायित्व है। उन्होंने बच्चों से मन लगाकर शिक्षा अध्ययन करने की अपील की और कहा कि जीवन लक्ष्य को हासिल करने के लिए लगन और मेहनत से पढ़ाई करना जरूरी है।

उन्होंने कहा कि जशपुर जिले में बच्चों को बेहतर शैक्षणिक सुविधाएं मुहैया कराने के लिए 50 स्कूल को स्मार्ट स्कूल बनाने की पहल शुरू कर दी गई है।

जशपुर नगर के रणजीता स्टेडियम के समीप मिनी स्टेडियम(खेल परिसर) बनाया जाएगा। श्री भगत ने कार्यक्रम में उपस्थित बच्चों का आहवान किया कि शाला में पढ़ाए गए विषय को घर में जाकर जरूर दोहराएं। माता-पिता और बड़ो का आदर करें। कामयाब इंसान बनकर अपने घर परिवार और जशपुर जिले का नाम रौशन करें। 
             कलेक्टर श्री महादेव क्षीरसागर ने कहा कि जीवन में शिक्षा बहुत महत्वपूर्ण एवं आवश्यक है। उन्होंने कहा कि शाला प्रवेश उत्सव के आयोजन का उद्देश्य यह है सत्र के शुरूआती दौर में ही पढ़ने-पढ़ाने को लेकर वातावरण का निर्माण हो। एक भी बच्चा स्कूल जाने से वंचित न रहने पाए तथा बच्चों को शासन की ओर से निःशुल्क पाठ्यपुस्तकें, गणवेश एवं अन्य लाभ सुनिश्चित हो सके। उन्होंने इस अवसर पर शिक्षा विभाग के अधिकारियों, शिक्षकों  से आहवान किया कि वे विद्यार्थियों को पाठ्यपुस्तकें, गणवेश एवं सायकल का वितरण सुनिश्चित करें। शाला परिसर में फलदार पौधों का रोपण करें। कार्यक्रम में जिला समन्वयक राजीव गांधी शिक्षा मिशन श्री विनोद कुमार पैंकरा ने प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। कार्यक्रम के अंत में जिला शिक्षा अधिकारी ने समस्त अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट करने के साथ ही आभार व्यक्त किया। 

Follow me in social media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *