सायको किलर ने दिया खपरी और तेलीनसत्ती मर्डरकांड को अंजाम————- *11 महीने के अंतराल में 5 लोगों की हुई थी हत्या*

रायपुर-रोहिणी मिश्रा की रिपोर्ट

((फोटो साभार ibc चेनल)

आईजी प्रदीप गुप्ता एवं पुलिस अधीक्षक रजनेश सिंह ने प्रेस कॉन्फे्रंस लेकर रायपुर में किया दोनों अंधे हत्याकांड  का खुलासा

सायको किलर ने दिया खपरी और तेलीनसत्ती मर्डरकांड को अंजाम।

11 महीने के अंतराल में 5 लोगों की हुई थी हत्या।

दोनों मामलों में एक ही आरोपी,

 11 महीने के अंतराल में ग्राम खपरी और तेलीनसत्ती में 5 लोगों के हुए ब्लाइंड मर्डर मामले में पुलिस अंतत: सायको किलर तक पहुंचने में सफलता पा ही ली।

इस मामले में पुलिस ने ग्राम तेलीनसत्ती के जितेन्द्र ध्रुव (30 वर्ष) को गिरतार कर लिया है।

खपरी दोहरा हत्याकांड

प्राप्त जानकारी के अनुसार 16-17 अगस्त 2016 की रात अर्जुनी थाना अंतर्गत ग्राम खपरी में रहने वाली रूामणी बाई पति मानसिंग बांडे (50 वर्ष) और उसकी बेटी पार्वती बांडे (20 वर्ष) खाना खाने के बाद अपने घर के कमरे में सोये थे।

अज्ञात आरोपियों ने घर में अनाधिकृत प्रवेश कर पार्वती के साथ अनाचार किया, पश्चात मां और बेटी पर धारदार हथियार से हमला कर मौत के घाट उतार दिया।

इस मामले की जानकारी 18 अगस्त की शाम तब लगी जब पार्वती का भाई देवानंद घर पहुंचा। उसने देखा घर भीतर मां और बहन की लाश खून से लथपथ पड़ी है। देवानंद ने आसपास के लोगों एवं पुलिस को जानकारी दी। पुलिस ने मौके में पहुंचकर जांच की। इस मामले में पुलिस को भाई के ऊपर ही शक था। लेकिन जांच में अन्य तस्वीरों ने नया मोड़ दे दिया।

घटनास्थल पर खून से सना फावड़ा बरामद किया गया था,तेलीनसत्ती तिहरा हत्याकांड12-13 जुलाई 2017 की दरयानी रात ग्राम तेलीनसत्ती के महेन्द्र सिन्हा पिता रामसिंग (38 वर्ष), उसकी पत्नी उषा सिन्हा (32 वर्ष), छोटा पुत्र महेश उर्फ लक्की (11 वर्ष) और बड़े पुत्र त्रिलोक उर्फ राजा (13 वर्ष) पर अज्ञात व्यक्ति ने वजनदार हथियार से वार किया जिससे मौके पर ही महेन्द्र, उसकी पत्नी और छोटे बेटे लक्की की मौत हो गई।

जबकि महेन्द्र का बड़ा पुत्र त्रिलोक गंभीर रूप से घायल हो गया। उसकी एक आंख खराब हो गई। फिलहाल वह अपने मामा के घर रहता है।

पुलिस ने इस मामले में पहले तो महेन्द्र के रिश्तेदार पर भी शक किया था। लेकिन ऐसा हत्या का कोई आधार नहीं बना।

*ऐसे हुई सीरियल किलर की

पहचान*-

ग्राम खपरी एवं तेलीनसत्ती में हुए 5 लोगों की हत्या के मामले में आरोपी कोई 2-3 नहीं बल्कि एक ही युवक जितेन्द्र पिता अवधराम ध्रुव (30 वर्ष) ग्राम तेलीनसत्ती निवासी है।

जिसने पूरी प्लानिंग के साथ इन हत्याओं को अंजाम दिया, जितेन्द्र पेशे से मजदूर है। जितेन्द्र का आना-जाना दोनों परिवार में रहा।

पुलिस को अपनी जांच में काफी माथा-पच्ची करनी पड़ी।

इस मामले की तह तक जाने के लिए पुलिस ने साढ़े 3 लाख मोबाइल नंबरों को खंगाला।

इसके अलावा तेलीनसत्ती, खपरी, भानपुरी, अर्जुनी, देमार, उसलापुर के समेत आसपास के गांवों के 20 से 30 वर्ष उम्र वाले युवकों की मतदाता सूची की जांच की गई। वोटर लिस्ट की जांच में 25 से 35 लोगों को चिन्हांकित कर एक-एक युवकों की गतिविधियों पर जानकारी रखने के लिए पुलिस को लगाया गया।

4 महीने तक पुलिस लगातार युवकों पर नजर रखे रही।

खपरी हत्याकांड को क्यों दिया अंजामआरोपी जितेन्द्र ध्रुव जब टे्रक्टर से ईंट ढुलाने का काम कर रहा था तब उसका आना-जाना खपरी में भी रहा।

इसी बीच जितेन्द्र ध्रुव का संपर्क पार्वती से हो गया। दोनों के बीच संपर्क बढऩे के बाद लुक-छिपकर घर तक भी आना-जाना बढ़ गया।

जितेन्द्र 16-17 अगस्त 2016 की रात जब खपरी में पार्वती के घर पहुंचा तब उसकी मां ने दोनों को संदिग्ध हालत में देख लिया। आरोपी ने बदनामी के भय से पहले पार्वती की मां रूखमणी बाई को मौत के घाट उतारा।

कुछ देर बाद पार्वती की हत्या कर दी। पुलिस को जितेन्द्र पर शक नहीं हुआ। जिसके कारण वह बच रहा था।आरोपी का सिन्हा परिवार में आना-जाना थाआरोपी ापरी हत्याकांड को अंजाम देेने के बाद सिन्हा दंपत्ति को भी मौत के घाट उतारने में पीछे नहीं हटा।

आरोपी जितेन्द्र का महेन्द्र सिन्हा के घर आना-जाना था। चूंकि महेन्द्र की पत्नी उषा जेवर गिरवी रखने का काम करती थी। जिसकी जानकारी जितेन्द्र को भी थी। उसने योजना बनाई कि महेन्द्र सिन्हा के घर की आलमारी में रखे जेवरों की चोरी कर फरार होना है। जब वह जेवर चोरी कर रहा था तभी परिवार के सदस्य जाग गए और उसने सभी पर प्राणघातक हमला कर दिया।

आरोपी हत्या को अंजाम देने के बाद उनके घर से करीबन ढाई लाख रूपए के सोना-चांदी लेकर भागने में भी कामयाब रहा।

किराये के घर में रहता है आरोपीखपरी-तेलीनसत्ती हत्याकांड का आरोपी जितेन्द्र ध्रुव मूलत: भोपाल का रहने वाला है।

4 साल पहले वह अपने मामा के घर तेलीनसत्ती आया था। शादी के बाद वह इतवारी सिन्हा के घर में किराये में रहता था।

आरोपी जितेन्द्र और मृतक महेन्द्र सिन्हा के घर की दूरी महज एक फर्लांग है।

आईजी ने किया खुलासा

खपरी-तेलीनसत्ती सीरियल मर्डरकांड का खुलासा

बुधवार को आईजी प्रदीप गुप्ता एवं पुलिस अधीक्षक रजनेश सिंह ने प्रेस कॉन्फे्रंस लेकर रायपुर में किया। इस दोनों अंधे हत्याकांड में आरोपी को ढंूढने में अर्र्जुनी थाना, सायबर सेल की संयुक्त टीम ने उल्लेानीय कार्य किया।

Purvanchal prahari

Ravindra singh bhatia

9755884666

Pathalgaon# Raipur

pnews.in(web news portal)

ppnews44@gmail.com

Follow me in social media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *