ओ पी जिंदल स्कूल रायगढ़ में प्रभगुण टुटेजा ने दसवीं की परीक्षा में टॉप में बनाया अपना स्थान, 98.60 प्रतिशत अंक प्राप्त कर किया गौरान्वित,

भले ही कम पढ़ो मगर रोज पढ़ो पढ़ाई हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए – प्रभगुण टुटेजा


रायगढ़।
शहर की बेटी व ओपी जिंदल स्कूल की छात्रा प्रभगुण कौर टुटेजा कक्षा 10 वीं में 98.60 प्रतिशत अंको के साथ टॉप में अपनी जगह बनाया है। प्रभगुण टुटेजा अमितपाल सिंह टुटेजा उर्फ केकी की पुत्री व जसपाल सिंह टुटेजा की पौत्री हैं। उनकी माता सिमरन कौर टुटेजा बताती हैं कि प्रभगुण में पढ़ाई का एक जुनून है वो पढाई को बहुत ज्यादा प्रमुखता देती है और हर सब्जेक्ट को लेकर उसका टास्क होता था जब तक अपने टॉस्क को पूरा कर नहीं लेती तब तक वह उठती नहीं चाहे उसमे 2 घंटे लगे या 4 घंटे।

लॉक डाउन में भी पूरे समय अपना ध्यान पढाई पर ही फोकस रखती रही है। वे अपनी पूरी पढाई इस तरह की है जैसे स्कूल खुलें हो और स्कूल में बैठकर परीक्षा दिया हो।


स्वयं प्रभगुण कौर टुटेजा कहती हैं कि मुझे पढाई करना सबसे अच्छा लगता है और अभी उनका मुख्य काम पढाई करना ही है।

सोसल मीडिया मोबाइल से खुद को दूर रखने वाली प्रभगुण कहती हैं कि अभी थोड़ी देर के लिए हमे मोबाइल गेम सोसल मीडिया बहुत अच्छा लगता है लेकिन जब हमारा रिजल्ट खराब हो जाये नम्बर कम आ जाये तो तब पछताने से अच्छा है कि अभी हमारा समय पढाई का है तो पढाई प्रमुखता से करें।

वे कहती हैं कि हमे रोज पढ़ना चाहिए भले ही थोड़ा थोड़ा पढ़े लेकिन नियमित पढ़ें इसके अलावा खेलना भी उन्हें पसंद है इसके अलावा किताबें पढ़ना खास तौर पर हॉरर स्टोरी वाली किताबे ज्यादा पसंद हैं। स्केचिंग, ड्राइंग, सिंगिंग भी पसन्द है वे यह सब भी करती हैं। खाने में उन्हें इंडियन डिश के अलावा चाइनीज भी पसन्द है।

प्रभगुण आगे चलकर कॉमर्स लेकर पढाई करना चाहती है और सीए बनना चाहती है।

दादा जसपाल सिंह टुटेजा अपनी पोती (ऐशना) के कठोर परिश्रम व् लगन से परीक्षा में 98.60% अंक प्राप्त करने पर बेहद गौरान्वित महसूस कर रहे है।

प्रभगुण अपने स्कूल में लड़कीयों में प्रथम स्थान और पूरे स्कूल में द्वितीय स्थान प्राप्त करके हमारे परिवार शहर व संस्था को गोरवान्वित किया है।

Follow me in social media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *