कोरोना को रोकने के लिए टीका ही एक उपाए है टीका जरूर लगाएं-कलेक्टऱ–कुनकुरी बीएमओ को कारण बताओ नोटिश जारी करने के निर्देश

एंजशपुरनगर 03 अप्रैल 2021/कलेक्टर श्री महोदव कावरे ने आज मोबाईल एप्लीकेशन के माध्यम से सभी एसडीएम, जनपद सीईओ, स्वास्थ्य अधिकारी, बीएमओ, सरपंच, सचिव की आॅनलाईन बैठक लेकर कोविड-19 टीकाकरण के संबंध में अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की सुरक्षा को देखते हुए लोंगों को मास्क लगाना और सोशल डिस्टेंश का पालन करना अनिवार्य है। जिले में 191 टीका केन्द्र बनाया गया है।  केन्द्रों में 45 वर्ष आयु वर्ग और छुटे हुए लोगों का टीका करण किया जा रहा है। प्रत्येक केन्द्र में प्रतिदिन 150 लोगों का टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है।
कलेक्टर ने एसडीएमों को निर्देशित करते हुए कहा कि बाजार दुकानों में बिना मास्क के घूमने वाले लोग और दुकानदारों पर भी जुर्माना लगाने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि बिना मास्क लगाए दुकानदार दुकान पर बैठते है और सोशल डिस्टेंश पालन नहीं करते है तो उन दुकानों को सील करने के भी निर्देश दिए है।  कलेक्टर ने कहा कि सार्वजनिक स्थानों पर मास्क लगाना अनिवार्य है। साथ ही शादी, अंतिम संस्कार, और सार्वजनिक समारोह में एसडीएम से अनुमति लेना अनिवार्य है। समारोह में 50 लोगों को ही शामिल होने की अनुमति दी जाएगी। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की सुरक्षा को देखते हुए रात्रि 8 बजे से सुबह 6 बजे तक रात्रि कालीन कफ्र्यू लगाया गया है। इसका गंभीरता से पालन करें और आठ बजे के बाद दुकानों को अनिवार्य रूप से बंद करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि सर्दी, बुखार होने पर तत्काल कोरोना जांच कराए ताकि संक्रमण से सुरक्षित रहा जा सके। उन्होंने सभी बीएमओ से विकासखंडवार सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में वाहन सुविधा की भी जानकारी ली और जिन स्वास्थ्य केन्द्रों मेंवाहन की सुविधा नहीं है उन केन्द्रों में टीकाकरण के लिए वैकल्पिक वाहन की व्यवस्था करने के निर्देश दिए है। ताकि जिनकों चलने-फिरने में असुविधा हो या ऐसे दिव्यंागजन केन्द्र तक पहुंच नहीं पा रहे है उनको वाहन के माध्यम से टीकाकरण केन्द्र तक वाहन के माध्यम से पहुंचाने के निर्देश दिए है।
    उन्होंने कहा कि दुरस्थ अंचलों में टीकाकरण टीम कैम्प लगाकर और स्वास्थ्य सुविधा के साथ टीकाकरण करवाने के भी निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतों में आंगनबाड़ी, मितानिन और स्वास्थ्य कार्यकर्ता के माध्यम से 45 वर्ष आयु वर्ग वालों की चिन्हांकित करके सूची बना लें और उनको पर्ची बनाकर देने के निर्देश दिए है पर्ची में  केन्द्र का नाम समय लिखकर देने के लिए कहा गया है ताकि केन्द्र तक पहुंचन में सुविधा हो सके। समीक्षा के दौरान उन्होंने कुनकुरी बीएमओ के प्रति नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि आपके द्वारा कोरोना टीकाकरण के लिए लाए गए व्यक्तियों का समय पर टीकाकरण नहीं किया गया और लापरवाही बरती गई। जिसके कारण कलेक्टर ने उन्हें कारण बताओं नोटिश जारी करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि जिले में 144 धारा लागू किया गया है जिसका सभी को कड़ाई से पालन करना होगा। समीक्षा के दौरान उन्होंन मनरेगा और गोधन न्याय योजना की भी जानकारी ली।
कलेक्टर ने मनरेगा कार्य में जुड़े जिला पंचायत सीईओ, जनपद सीईओ, सरपंच,सचिव, एवं अन्य अधिकारियों कर्मचारियों को अपनी हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आप लोगों की मेहनत और सार्थक प्रयास से मनरेगा में बेहतर कार्य हुआ है इसके लिए आप सभी बधाई के पात्र है। मनरेगा के लक्ष्य को पूर्ण किया गया है। मनरेगा से ग्रामीण अपनी आर्थिक जरूरतों को पूरा कर पा रहे हैं। कलेक्टर श्री महादेव कावरे के मार्गदर्षन में जिले में नरेगा योजना से वित्तीय वर्ष 2020-21 में प्राप्त लेबर बजट 66.58 लाख  के एवज में 69.26 लाख का कार्य किया गया। जो कि कुल लेबर बजट का 104 प्रतिशत है।
गोधन न्याय योजना की समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने कहा कि गौठानों में समूहों को गतिविधियों में शामिल करके आजीविका से जोड़े और खाद बनाने में प्रगति लाने के निर्देश दिए है।

Follow me in social media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *