कोविड वैक्सीन लगने के बाद संक्रमित होने पर स्थिति गंभीर नही होगी

वैक्सीनेटेड व्यक्ति को भी कोरोना अनुकूल व्यवहार का पालन करना होगारायकपुर 27 मार्च 21/कोविड 19 वैैक्सीन की दोनों डोज लगने के बाद भी यदि कोरोना संकमण होता है तो वह मामूली होगा उतना अधिक गंभाीर नही होगा। ऐसी स्थिति में अस्पताल में भर्ती होने या मृत्यु की संभावनाएं नहीं रहेगी। जवाहर लाल नेहरू इंस्टीट्यूट पोस्ट गे्रजुएट मेडिकल एजुकेषन एंड रिसर्च पुडुचेरी द्वारा हाल ही में आयोजित सेमिनार में उक्त तथ्य सामने आया कि अब तक लाखों लोगों को वैक्सीन लगाई गई है लेकिन उसके बाद भी ज्रिन्हे संक्रमण हुआ है ऐसे लोगों की संख्या दहाई के आंकड़े में ही है। इससे यह साबित होता है कि दोबारा संक्रमण होना दुर्लभ घटना है । इस आधार पर लोगों केा टीका लगाने से बचना नही चाहिए क्योंकि वैक्सीन लगाने से सभी के षरीर ंमंे एंटीबाडी बनती है और प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत होता है। यदि वैैक्सीनेटेड व्यक्ति दोबारा संक्रमित हो भी जाएगा लेकिन उसकी स्थिति गंभीर नही हेागी,मामूली संक्रमण ही होगा। वैक्सीन की दोनो डोज लगाने के बाद भी मास्क लगाना,भीड़ से बचना जरूरी होगा क्योंकि वैक्सीन षत प्रतिषत सुरक्षा नही देता है। सेमीनार में कुछ निष्कर्ष भी सामने आए कि हमारे षरीर का प्रतिरक्षा तंत्र एंटीबाडी के साथ ही टी सेल भी बनाता है । यह टी सेल वाईरस के ाषरीर में प्रवेष करने के बाद हरकत में आता है और वाईरस से लड़ता है। वैज्ञानिकों के अनुसार जब तक किसी जनसंख्या के 70 प्रतिषत को इम्यूनिटी नही आ जाती ,चाहे वह वैक्सीन लगाने से हो या प्राकृतिक रूप से हो,तब तक इस प्रकार के संक्रमण होंगे। इससे बचने के लिए पात्र व्यक्तियों को जल्द से जल्द वैक्सीन लगवाना, विषेष कर बुजुर्गाे को, सभी को मास्क लगाना, भीड़ से बचना, बंद भीड़ वाली जगहों में नही जाना और हाथों की साबुन पानी से सफाई जरूरी है। सेमीनार में एस जी पी जी आई लखनउ की डाॅ अमिता अग्रवाल, वेल्लेार से डाॅ गगनदीप,डाॅ एंडू पोलार्ड,डाॅ संजय वर्मा चंडीगढ़ एवं अन्य विषेषज्ञ उपस्थित थे।

Follow me in social media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *