उच्च न्यायालय बिलासपुर ने यथास्थिति बनाए रख 15 दिवस के अंदर निर्माण कार्य का जांच प्रतिवेदन देने के दिया निर्देश

कन्हैया गोयल

आवेदक अशोक देवांगन ने उच्चतम न्यायालय बिलासपुर में लगाई थी याचिका

आवेदक के अनुसार उसकी निजी जमीन पर पालिका बनवा रही है सरकारी भवन

सक्ती-नगर पालिका सक्ती के अंतर्गत निर्माणाधीन मंगल भवन के कार्य को यथास्थिति बनाए रख 15 दिवस के अंदर जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत करने बंद के आदेश माननीय उच्च न्यायालय छत्तीसगढ़ बिलासपुर ने एसडीएम सक्ती को 23 जून को दिया था,

जिसके परिपालन में एसडीएम सक्ती ने सीएमओ नगर पालिका सक्ती को 27 जून को पत्र लिखकर उच्च न्यायालय के आदेश का परिपालन करने निर्देशित किया,एसडीएम सक्ती के पत्र मिलने के तुरंत बाद सीएमओ सक्ती ने संबंधित निर्माण एजेंसी को 27 जून को पत्र का पालन करने कहा,ज्ञात हो कि याचिकाकर्ता अशोक देवांगन द्वारा उच्च न्यायालय बिलासपुर में याचिका लगाई गई थी कि सक्ती नगर में मंगल भवन सरकारी भूमि में न बनाकर उसके स्वामित्व की भूमि में कराया जा रहा है, जिसके बाद न्यायालय द्वारा 23 जून को आदेश दिया गया कि यथा स्थिति बनाये रख अनुविभागीय अधिकारी राजस्व 15 दिवस के अंदर पूरे मामले की जांच करें,जिस पर एसडीएम सक्ती द्वारा तत्काल नगर पालिका को पत्र लिखा जिसके बाद नगर पालिका की ओर से निर्माण एजेंसी को पत्र लिख तत्काल कार्य को बंद करने 27 जून को पत्र क्रमांक 288/लोनिवि/नपपा के तहत कहा गया।किंतु याचिकाकर्ता अशोक देवांगन का कहना है कि न्यायालय के निर्देशों का परिपालन नही किया जा रहा है

Follow me in social media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *