भारतीय रेलवे में पहली बार बिलासपुर मंडल द्वारा लजकुरा से चक्रधरपुर के मध्य लोडेड ट्रिपल लॉन्ग हाल (सुपर एनाकोंडा) चलाई गई

कन्हैया गोयल

सक्ती–दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर मंडल ने पूरे भारतीय रेलवे में एक नया कीर्तिमान स्थापित करते हुए तीन लोडेड मालगाड़ियों को एक साथ जोड़ते हुए मंडल के लजकुरा स्टेशन से चक्रधरपुर स्टेशन तक ट्रिपल लॉन्ग हाल रैक (सुपर एनाकोंडा) चलाई गई। 15000 टन से अधिक क्लिंकर से लोडेड 174 वैगनो को जोड़कर इस लॉन्ग हाल रैक को चलाई गई। इन तीनों मालगाड़ियों को जोड़कर एक ही लोको पायलट एवं सहायक लोको पायलट एवं गार्ड की सहायता से इसे चलाया गया । इस प्रक्रिया में केवल 01 लोको पायलट, 01 सहायक लोको पायलट एवं 01 गार्ड की आवश्यकता पडी।
भारतीय रेलवे में पहली बार एक लोको पायलट, एक सहायक लोको पायलट एवं गांर्ड की सहायता से तीन लोडेड मालगाड़ियों को एक साथ जोड़कर चलाते हुये कीर्तिमान स्थापित किया गया। इसके पूर्व इस एनाकोंडा गाडी को खाली रैकों के साथ चलाई जा रही थी।
इस long&haul रैक के चलने से जहां पहले 03 लोको पायलट एवं 03 सहायक लोको पायलट की आवश्यकता होती थी वही ट्रिपल लॉन्ग हॉल रैक को 01 लोको पायलट एवं 01 सहायक लोको पायलट व 01 गार्ड द्वारा इस कार्य को अंजाम दिया गया। इस तरह के परिचालन से क्रू सेट की बचत के साथ-साथ रेलवे ट्रैक का भी सही इस्तेमाल हो रहा है। साथ ही समय की बचत के साथ ही साथ उपभोक्ताओं को अतिशीघ्र डिलीवरी प्राप्त होगी।

Follow me in social media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *