कोरबा संसदीय क्षेत्र के तीनों जिलों में कोरोना प्रभावितों के लिये 25-25 लाख रूपये दिये,मुख्यमंत्री कोष में दिए 1 करोड़ ओर वेतन

▪कोरबा सांसद श्रीमती ज्योत्सना चरणदास महंत ने

▪कोरबा संसदीय क्षेत्र के तीनों जिलों में कोरोना प्रभावितों के लिये 25-25 लाख रूपये दिये

कोरबा लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्रीमती ज्योत्सना चरणदास महंत ने कोरोना वायरस से प्रभावितों की मदद के लिये एक बार फिर बड़ी पहल की है। उन्होंने दो करोड़ दो लाख 36 हजार रूपये की राशि कोरोना प्रभावितों की सहायता के लिये दी है। सांसद श्रीमती महंत की इस मदद में विशेष बात यह है कि उन्होंने प्रधानमंत्री सहायता कोष से लेकर मुख्यमंत्री सहायता कोष, जिला स्तरीय कोविड-19 रिलिफ फण्ड और अपने संसदीय क्षेत्र में शामिल तीनों जिलों के लिये भी कोरोना वायरस से प्रभावित लोगों की मदद करने सहायता राशि दी है।

श्रीमती महंत ने प्रधानमंत्री सहायता कोष में एक करोड़ रुपए, संसदीय क्षेत्र के कोरबा, कोरिया, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिला के लिये 25-25 लाख व मुख्यमंत्री सहायता कोष में भी 25 लाख रूपये की राशि दी है।

इससे पहले श्रीमती महंत ने कोरबा जिले के कोविड-19 रिलिफ फण्ड में कोरोना प्रभावित लोगों के लिये 51 हजार रूपये की सहायता राशि भी जमा करायी है।

श्रीमती महंत ने अपना एक माह का वेतन एक लाख 85 हजार रूपये भी मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा कराया है।


इस अवसर पर कोरबा सांसद ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी ने जब देश में गरीब, मजदूरों, किसानों से लेकर उद्योग-धंधों और अर्थव्यवस्था को बुरी तरह से प्रभावित किया है, तो देश के जिम्मेदार नागरिक होने के नाते कोरोना प्रभावित लोगों की मदद के लिये सभी को आगे आना चाहिये। मेरी यह छोटी सी मदद छत्तीसगढ़ वासियों सहित देश में कोरोना से प्रभावित हुये बेसहारा, गरीब, नि:शक्तजन, बुजुर्ग, कामगार और जरूरतमंदों के लिये भोजन-पानी, दवाओं आदि के काम आयेगी। इस राशि से डॉक्टरों तथा मेडिकल स्टॉफ के लिये वायरस प्रोटेक्शन किट्स, सेनेटाईजर स्प्रे और फॉगिंग मशीन, स्वच्छता कर्मियों को सुरक्षा किटें आदि उपलब्ध कराये जा सकेंगे। इस कठिन दौर में देशवासियों की छोटी-छोटी मदद भी सम्मिलित रूप से बड़ी प्रभावी हो रही है और अनेकता में एकता वाले देश में मानवता की यही जीत है। अखण्ड भारत की यही सच्ची पहचान है। श्रीमती महंत ने देश-प्रदेश के जनप्रतिनिधियों, उद्योगपतियों, सेलिब्रिटीस, समाजसेवियों के साथ-साथ शासकीय अधिकारी-कर्मचारियों से भी इस कोरोना महामारी ने निपटने और प्रभावित लोगों को अधिक से अधिक मदद पहुॅंचाने के लिये खुले हाथों से सहायता देने की अपील भी की है। बालको, एनटीपीसी, एसईसीएल जैसे प्रतिष्ठानों से भी यह अपील की है कि वे अपने संस्थानों में काम करने वाले श्रमिकों और कर्मचारियों की भी कोरोना वायरस के कारण बने मौजूदा हालातों में पूरी सहायता करें।

Follow me in social media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *