गिरफ्तारी का कारण जानने का अधिकार-अमित जिंदल सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जशपुर


जशपुरनगर 15 जनवरी 2020/ जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री भीष्म प्रसाद पाण्डेय के मार्गदर्शन पर विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन बीते दिनों जिला जेल जशपुर में किया गया। प्राधिकरण के सचिव श्री अमित जिन्दल ने जिला जेल जशपुर में उपस्थित बंदियो को बताया कि जब भी किसी को गिरफतार किया जाता है, तो उसे भारतीय संविधान के अनुच्छेद 22 तथा दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 50 के अनुसार गिरफतारी के कारण जानने का अधिकार है।
सचिव श्री जिंदल ने आगे बताया कि माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्णय डी.के.बासू बनाम पश्चिम बंगाल राज्य ए.आई.आर. 1997 एस.सी. 610 में दिए गए निर्देशो के अनुसार गिरफतारी करने वाला पुलिस अधिकारी स्पष्ट पहचान चिन्ह धारण करेगा तथा गिरफतारी का मेमो तैयार करेगा। गिरफतार किए गए व्यक्ति के परिवारजनो को उस व्यक्ति की गिरफतारी तथा गिरफतारी के कारण जानने का अधिकार होगा तथा गिरफतार किए जाने वाले व्यक्ति को उक्त संबंध में जानने का तथा मेडिकल परीक्षण तथा अधिवक्ता से मिलनें का भी अधिकार होगा। विधिक सेवा शिविर में सहायक जेल अधीक्षक श्री विज्यानंद सिंह भी उपस्थित थे।

Follow me in social media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *