शिक्षा कर्मी हड़ताल पर— बच्चे चले मक्ष्ली मारने——— अधिकारी बन रहे गुरुजी——–स्कूल ठप,ऑफिस ठप,

पत्थलगांव 

जितेन्द्र गुप्ता द्वारा

विकासखण्ड फरसाबहार के पंडरीपानी स्कूल के छात्र अब स्कूल छोड़ कर तालाबो में मछली मारने भी निकल रहे है ये स्कूल के शिक्षको के हड़ताल का असर है या उन बच्चो का शौक पता नही

पर अब ये तो दिखने लगा है कि स्कूल सिर्फ खुलने भर से काम नही चलने वाला पूरा स्कूल का क्लास चलाना होगा और ये तभी हो सकेगा जब हड़ताली सभी शिक्षा कर्मी स्कूल वापस लौटे नही तो स्कूल के बच्चे स्कूल न जाकर अपना समय घूमने फिरने और बाकी कामो में लगाएंगे जिससे उन छात्रों के आगे की पढ़ाई में बहुत दिक्कत होगी पर इन सभी बातों से अनभिज्ञ सरकार इन शिक्षा कर्मियों के बातो को इतना हल्के में लेकर सभी स्कूलों की पढ़ाई को लगभग ठप्प करने में लगे हुए है ये शिक्षा कर्मी तो अब तक पूर्व में मिले आश्वाशन से दूर किसी ठोस निर्णय की प्रतीक्षा करते हुए आंदोलन में बैठ गए है पर सरकार के रुख में कोई नरमी नही दिखने से सरकारी स्कूलों में पढ़ा रहे बच्चो के अभिभावक बेहद चिंतित हो रहे है की कब ये आंदोलन समाप्त हो और स्कूलों की पढ़ाई बढ़िया हो सके कहि शिक्षा कर्मियों और सरकार के हठधर्मिता से सभी सरकारी स्कूलों के छात्रों का भविष्य ही खतरे में न पड़ जाए कहि न कही सरकार को इन बातों को अब सोचकर इन आंदोलन कर रहे शिक्षा कर्मियों के मांगो पर पहल करते हुए ठोस निर्णय ले जिससे ये अपना आंदोलन समाप्त कर सके नही तो जितना ज्यादा दिन होगा आंदोलन उतना ही सरकार के लिए चिंता और बढ़ता जाएगा आज ये आंदोलन का पांचवा दिन है और सभी शिक्षा कर्मी अपने अपने विकासखण्ड में आंदोलन में शामिल है पूरा जशपुर जिला जो पढाई के लिए राज्य भर में पिछले साल नाम कमा चुका है आज सरकार और शिक्षा कर्मियों के बीच मे मझदार में पड़ गए है जल्द ही किसी निर्णय में पहुच कर फैसले करे सरकार जिससे ये आंदोलन समाप्त हो सके

Follow me in social media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *