बालाछापर में चैपाल लगाकर ग्रामीणों ने सुना लोकवाणी स्व सहायता समूहों की महिलाओं ने जलपान में परोसा धुस्का और चटनी


जशपुरनगर 08 दिसम्बर 2019/ मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की रेडियोवार्ता  लोकवाणी को सुनने को लेकर गांवों में उत्सव का जैसा माहौल देखने को मिल रहा है। गांव की चैपाल में इस कार्यक्रम को सुनने के लिए बड़ी संख्यामें ग्रामीणजनएकत्र होते हैं। जशपुर जिजले के बालाछापर गांव के चैपाल में  ग्रामीणों ने धुस्का और चटनी का स्वाद लेते हुए लोकवाणी कार्यक्रम को बड़ी तन्मयता से सुना। बालाछापर गांव की महिला स्वसहायता समूह की महिलाओं ने अपनी ओर से लोकवाणी सुनने वाली सभी लोगों के लिए  अपने घरों से धुसका और चटनी बनाकर लाई थी। कार्यक्रम के दौरान समूह की महिलाओं ने सभी लोगों को जलपान के तौर पर स्थानीय पकवान धुसका और चटनी परोसा। लोकवाणी का यह पांचवां प्रसारण आदिवासी विकास पर केन्द्रित था। लोकवाणी के माध्यम से मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने राज्य में आदिवासियों के विकास के लिए राज्य सरकार के फैसलों एवं कार्यक्रमों की वार्तालाप शैली में जानकारी दी। इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष श्री हीरूराम निकुंज, एसडीएम श्री दशरथ राजपूत, विकासखंड शिक्षा अधिकारी एमजेडयू सिद्दीकी एवं अन्य अधिकारियों ने भी ग्रामीणों के साथ चैपाल में बैठकर लोकवाणी को सुना।
         मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने अमर शहीद वीर नारायण सिंह को याद करते हुए कहा कि उनका बलिदान दिवस 10 दिसम्बर को है। इसी प्रकार 18 दिसम्बर को गुरू बाबा घासीदास की जयंती और 25 दिसम्बर को प्रभु यीशु का जन्म दिवस क्रिसमस है। मुख्यमंत्री ने अमर शहीद वीर नारायण सिंह, गुरू बाबा घासीदास और प्रभु यीशु को नमन करते हुए उनसे प्रदेश की खुशहाली के लिए आशीर्वाद की कामना की।
श्री बघेल ने ‘लोकवाणी’ में आदिवासियों की गौरवशाली संस्कृति और परम्परा, वनोपज पर आधारित उनकी आजीविका, राज्य सरकार द्वारा अनुसूचित जनजातियों के विकास के लिए किए जा रहे प्रयासों, आदिवासियों के संवैधानिक अधिकारों की सुरक्षा आदि विषयों पर प्रदेशवासियों के साथ अपने विचार साझा किए। श्री बघेल ने रेडियो वार्ता में श्रोताओं द्वारा पूछे गए प्रश्नों के जवाब देकर उनकी जिज्ञासाओं का समाधान किया।  लोकवाणी सुनने के बाद श्रीमती रमा बाई, साधो राम एक्का ने कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से मुख्यमंत्री श्री बघेल सरकार के काम काज और फैसलों की जानकारी देते है। उन्होंने कहा कि सरकार की नरवा, गरूवा, घुरूवा, बाड़ी योजना, 2500 रुपए क्विंटन में धान खरीदी को किसानों एवं ग्रामीणों के हित में बताया और कहा कि प्रदेश सरकार गांव और ग्रामीणांे की भलाई के लिए काम कर रही है।  

Follow me in social media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *