किसानों के मुद्दे पर ज्योत्सना महंत ने शून्य काल में उठाया मुद्दा-प्रधानमंत्री कृषि बीमा में खामियों को दूर करने लगाई गुहार

कोरबा लोकसभा क्षेत्र की सांसद श्रीमती ज्योत्सना चरणदास महंत ने संसद सत्र के शून्यकाल में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना पर अपनी बात रखते हुए योजना की खामियों को दूर कर किसानों को राहत पहुंचाने की बात कही है।

श्रीमती महंत ने कहा कि प्रधानमंत्री बीमा फसल योजना में व्यवस्था जनित खामियों को दूर किया जाना अत्यंत आवश्यक है। जिन किसानों की बीमा की प्रीमियम की राशि बैंकों के माध्यम से काट ली जाती है, राशि कटने तक तो ठीक लेकिन बीमा भुगतान की राशि के विषय में किसानों को वह जानकारी उनके अपने बैंक से उपलब्ध नहीं हो पाती और संबंधित बीमा कंपनी से जानकारी प्राप्त करने के लिए बैंक प्रबंधन द्वारा किसानों को कहा जाता है। किसान की जब प्रीमियम राशि बैंक से काटी जाती है तो उसे ठीक से यह भी पता नहीं होता कि उसका बीमा किस कंपनी से हुआ है, वह अपने बीमा के विषय में किससे संपर्क करें ? श्रीमती महंत ने मुद्दा उठाते हुए कहा कि योजना की व्यवस्था जनित खामियों को दूर किया जाना अत्यंत आवश्यक है। इसी प्रकार चर्चा में श्रीमती महंत ने लोकसभा अध्यक्ष से यह भी आग्रह किया कि प्रधानमंत्री बीमा योजना में केवल प्रकृति जनित आपदाओं को शामिल किया गया है, इसमें व्यक्ति जनित आपदाओं जैसे चोरी होना, आग लगना आदि को भी शामिल किया जाये क्योंकि व्यक्ति जनित हो या प्रकृति जनित, किसानों को उनकी फसल की क्षति राशि का बीमा वास्तविक रूप से मिलना चाहिए।

Follow me in social media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *