विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर जशपुर जिले में आयोजित हुए जनजागरूकता के विविध कार्यक्रम –कलेक्टर की अगुवाई में निकली रैली

जशपुरनगर 31 मई 2019/ विश्व तम्बाकू निषेध दिवस के मौके पर आज जनजागरूकता के लिए जिले में विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया।

कलेक्टर श्री निलेशकुमार महादेव क्षीरसागर एवं जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री राजेन्द्र कटारा की अगुवाई में जनजागरूकता रैली निकाली गई।

यह रैली सुबह 6 बजे जय स्तम्भ चौक से शुरू हुई और महाराजा चौक पहुंची जहां तम्बाकू एवं उसके उत्पादों का सेवन न करने के संबंध में लोगों ने शपथ ली और शपथ पत्र पर हस्ताक्षर किया।

 तम्बाकू और इसके उत्पाद के सेवन से होने वाली बीमारियों के बारे में लोगों को जागरूकता का संदेश देते हुए यह रैली मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय पहुंची और सभा के रूप में तब्दील हो गई।

रैली में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कर्मचारी, नर्सिंग की छात्राओं एवं अन्य लोग शामिल थे।


कलेक्टर श्री निलेशकुमार महादेव क्षीरसागर ने विश्व तम्बाकू निषेध दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि जशपुर जिले को धूम्रपान मुक्त जिला बनाने का अभियान चलाया जा रहा है। जन जागरूकता के माध्यम से लोगों को तम्बाकू से होने वाली बीमारियों के बारे में जानकारी देकर इसका सेवन न करने की अपील की जा रही है

। उन्होंने कहा कि तम्बाकू और उसके उत्पाद जैसे बीड़ी, सिगरेट, गुटका, खैनी आदि की रोकथाम के लिए कोटपा एक्ट के बारे में भी लोगों को जानकारी दी जा रही है और इसका उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध जुर्माने की कार्रवाई भी जारी है।

उन्होंने जिले के समस्त शैक्षणिक संस्थानों के 100 गज के दायरे को यलो लाईन से चिन्हिंत करने तथा इस दायरे में तम्बाकू और उसके उत्पाद के क्रय विक्रय पर कड़ाई से प्रतिबंध लगाए जाने की बात कही।

कलेक्टर ने कहा कि नियमानुसार तम्बाकू उत्पाद का खुला विक्रय नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि सिगरेट एवं बीड़ी के बड़ल को खोलकर बेचना नियमविरूद्ध है। 
उन्होंने तम्बाकू और इसके उत्पाद के सेवन को व्यक्ति एवं समाज के लिए घातक बताते हुए सभी लोगों से इसकी रोकथाम हेतु सक्रिय भागीदारी निभाने की अपील की।

कलेक्टर ने कहा कि नशा एक लत है।  इसके दुष्परिणाम के बारे में कुछ लोग जानते हुए और अधिकांश लोग न जानते हुए इसका सेवन करते हैं।

उन्होंने कहा कि जनजागरूकता के माध्यम से ही उसे रोका जा सकता है।

कार्यक्रम को जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने संबोधित करते हुए कहा कि इसकी रोकथाम के लिए लोगों को आगे आना होगा।

उन्होंने कहा कि सिगरेट, बीड़ी के सेवन से सिर्फ पीने वाला व्यक्ति ही प्रभावित नहीं होता बल्कि उसके आस-पास के लोगों को भी इससे नुकसान होता है।

उन्होंने कार्यक्रम में शमिल लोगों से एम्बेस्डर के रूप में काम करने के लिए अपील की। कार्यक्रम को सीएमएचओ, डॉ.पैंकरा नोडल अधिकारी डॉ. खुसरो ने भी संबोधित किया। 
कार्यक्रम के अंत में विश्व तम्बाकू निषेध दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित पोस्टर प्रतियोगिता एवं निबंध प्रतियोगिता के विजयी प्रतिभागियों को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के अंत में आभार डीएचओ डॉ.टोप्पो ने व्यक्त किया। कार्यक्रम में विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित
थे। 

Follow me in social media

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *